मुख पृष्ठ / जीवन शैली / आर्ट एंड कल्चर

हिंदू धर्म में हिंदू महिलाओं को शादी के बाद कुछ परंपराओं, रीति रिवाजों का पालन करना बहुत जरूरी है। एक शादीशुदा महिला का परिवेश ही बहुत अलग होता है और उसकी पहचान माथे पर लगी बिंदी और पैरों पर पहने बिछिया आदि से होती है। क्या कभी आपने सोचा है कि माथे पर लगी बिंदिया क

अक्सर हमने सुना होगा वक्त के साथ चलना है और बदलना बहुत जरुरी है। लेकिन कुछ नई चीज अपनाने से पहले हमें अपनी भारतीय परंपराएं को एक बार समझना चाहिए। कहीं ऐसा तो नहीं कि जाने जाने कुछ ऐसी परंपरा जिनसे हमें फायदा होता हो हम भूल गए है। आज हम आपको जमीन पर बैठकर खाने की भा

 

दुनिया का कोई भी आदमी यही चाहेगा कि उसकी बीवी दुनिया की सबसे खूबसूरत औरत हो। लेकिन म्यांमार के मगनचिन और मुन दुनिया के ऐसे ट्राइब है । जिसके पुरुष अपनी बीवियों को दुनिया की सबसे कुरूप बीवी बनाते है। इसके लिए वो कोई कसर नहीं छोड़ते है। पुरुष अपनी बीवियों के चेहरे पर

बच्चों का विवाह कुत्ते के बच्चे से वह भी सिर्फ ग्रह दोष मिटाने के लिए बहुत ही अजीबों-गरीब परंपरा है। हम बात कर रहे हैं छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के आदिवासी मंडल समाज की। जहां मकर संक्रांति के अगले दिन पारंपरिक गीतों के बीच दूध मुहे बच्चे सहित 5 साल से 8 साल तक के बच्

इस पुरुष प्रधान समाज में महिलाओं की स्थिति दयनीय नहीं है। यह तो हम जानते ही हैं भारत में फिर भी महिलाएं बहुत बेहतर स्थिति में है और पुरुषों की बराबरी कर रही हैं। लेकिन सऊदी अरब में महिलाओं के लिए जिंदगी बिल्कुल आसान नहीं है । बेतुके कानून और पाबंदिया उनके लिए मुश्क

भारत के सबसे बड़े त्योहारों में से एक होली का त्यौहार पुरे देश में मनाया जायेगा। आधुनिक ज़माने में परंपरागत तरीके से लेकर आधुनिकता के साथ कई तरह से पूरे देश में होली मनाई जाती है। यानि डीजे के साथ ही मॉडर्न पार्टीज , भांग और सूखे रंग वाली , गीले रं

loading...