पिघलने के डर से जल्दी नहीं खाना पड़ेगी आइसक्रीम

 

मौसम कोई भी हो आइसक्रीम खाना सभी को पसंद है। आइसक्रीम के इतने सारे फ्लेवर आ चुके हैं कि अब आइसक्रीम के बारे में सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है। लेकिन अक्सर आइसक्रीम लेने के बाद या तो हमें जल्दी घर पहुंच कर उसे फ्रिज में रखना पड़ता है या फिर तुरंत ही खाना पड़ता है, क्योंकि आइसक्रीम पिघलने लगती है। आइसक्रीम देखने में जितनी सुंदर लगती है उतनी ही जल्दी पिघल जाती है। लेकिन जापानी वैज्ञानिकों ने इस आइसक्रीम को पिघलने से बचाने का हल ढूंढ निकाला है। अब कंटेनर से आइसक्रीम निकालने और उसे किसी बाउल या केन पर रखने के बाद जल्दी पिघलने के डर से जल्दी जल्दी नहीं खाना पड़ेगा।

आपको बता दें कि जापान के कनजावा विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने आइसक्रीम का मेल्टिंग पॉइंट बढ़ाकर उसे वास्तविक आकार में बनाए रखने का तरीका ढूंढ निकाला है। मेल्टिंग पॉइंट एक ऐसा तापमान है जिस पर कोई भी ठोस पदार्थ द्रव में पिघलना शुरू करता है। शोधकर्ताओं ने स्ट्राबेरी से निकलने वाले पॉलीफिनोल द्रव के साथ मिलकर ऐसी आइसक्रीम बनायी है। कनजावा विश्वविद्यालय की प्रोफेसर तोमिहिसा ओता ने कहा की पॉलीफिनोल द्रव में ऐसा गुण होता है जिससे पानी और तेल को अलग करना मुश्किल हो जाता है। इस द्रव से बनी आइसक्रीम लंबे समय तक अपने मूल आकार में बनी रहेंगी। शोधकर्ताओं ने आइसक्रीम का टेस्ट करने के लिए 5 मिनट तक पॉलीफिनोल से बनी आइसक्रीम पर हेयर ड्राइड चलाया लेकिन वो आइसक्रीम अपने मूल आकार में ही बनी रहे।

Facebook Comments

Related posts

Leave a Comment